Blog

Summer Camp in Bhanpuri (Dhamtari)

Brahma Kumaris

ग्राम भानपुरी में पांच दिवसीय संस्कार समर कैम्प का हुआ समापन

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय, धमतरी के तत्वाधान में ग्राम – भानपुरी में दिनांक 04 जून से 9 जून तक चलने वाले संस्कार समर कैम्प का समापन किया गया । जिसमें मुख्य अतिथि श्रीमती उत्तरा बाई साहू सरपंच ग्राम भानपुरी एवं दिव्यधाम सेवाकेन्द्र संचालिता ब्र.कु. सरिता बहन कार्यक्रम में सम्मिलित हुए ।
ब्र.कु. सरिता बहन जी ने उद्बोधन में कहा कि बच्चो को अपने भीतर एकाग्रता की शक्ति विकसित करने की बहुत आवश्यकता है। एकाग्रता से कार्यकुशलता और कार्यक्षमता दोनो बढता है। नियम, संयम, अनुशासन, मर्यादा इससे जीवन में सकारात्मक सफलता प्राप्त होती है। नदी का जल जब तक अपनी सीमाओ में रहकर बहती है तो वह जीवन दायिनी कहलाती है वही नदी जब अपनी सीमाओ को तोड देती है तो विनाश का कारण बन जाती है। हमें अपने जीवन को नियम व संयम से चलाना चाहिए। कोई भी कार्य करो तो उसमें समपर्ण आवश्यक है बिना समपर्ण से सम्पूर्ण सफलता की कामना नही कर सकते। वर्तमान समय बच्चो के ध्यान को भटकाने वाले बहुत से साधन आ गए, मोबाईल, इंटरनेट, टी.वी. जो बच्चो के मन को पढाई से हटा कर अन्य अन्य बातो में ले जाते है। इन सब साधनो से बच्चो और माता – पिता दोनो को बहुत सावधान रहना चाहिए और इसका आवश्यकता अनुसार ही उपयोग करना चाहिए। बच्चो के भीतर संस्कार भरना है तो पहले माता – पिता को स्वंय में सस्कार आना होगा क्यों कि परिवार पहली पाठशाला है। जिसे देखकर ही बच्चे सीखते है।
ग्रीष्म अवकाश में समर कैम्प लगाने का उद्देश्य ही है कि बच्चो के भीतर आध्यात्मिकता, नैतिकता और संस्कारो के प्रति आकषर्ण और रूझान पैदा हो। ब्रह्माकुमारीज द्वारा विगत अनेक वर्षो से धमतरी तथा आसपास के सेवाकेन्द्रो पर प्रतिवर्ष संस्कार समर कैम्प का आयोजन नियमित रूप से किया जा रहा है। किन्तु इस वर्ष से हमने शहर के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रो में जहां हमारे ब्रह्माकुमारीज पाठशाला का संचालन हो रहा है वहां के बच्चो के लिए भी इस संस्कार समर कैम्प का आयोजन किया गया है ताकि वहां की छिपी प्रतिभाओ को आध्यात्मिकता का बल मिले।
ग्राम भानपुरी के सरपंच महोदया ने कहा कि भानपुरी से ही धार्मिक कार्य के आयोजनो में अग्रणी रहा है। इस प्रकार के कार्यक्रम होते रहना चाहिए जिससे सभी को प्रेरणा मिलती है। इस संस्कार समर कैम्प में जो भी बच्चे जाते थे। उन पर बहुत अच्छा प्रभाव हमे देखने को मिला।
समर कैम्प में भाग लेने वाले कु.जागृति साहू ने अपने अनुभव में कहा कि हमारे गांव में इस प्रकार का यह पहला आयोजन था जिसका हमने लाभ लिया यहां ज्ञान की बाते बहुत ही सहज तरीके से खेल और कहानियां के माध्यम से बताया गया और जो मेडिटेशन सिखाया निश्चित ही उसका लाभ मुझे भविष्य मे प्राप्त होगा। इस प्रकार का समर कैम्प प्रतिवर्ष लगाना चाहिए।
इस कार्यक्रम में श्री के आर. बांकडे, नूरसिंह साहू, पुनीत राम साहू, जीवराखन साहू, रामभरोसा साहू, रूपराम साहू, कुजंबिहारी एवं ग्राम के गणमान्य नागरिक सम्मिलित हुए।
अंत में शिविर का लाभ लेने वाले सभी बच्चो को प्रमाण पत्र एवं सौगात प्रदान किया गया, पलक और वीणा के द्वारा डांस प्रस्तुत किया गया कार्यक्रम का संचालन छबिलाल भाई के द्वारा किया गया।