News

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय धमतरी के प्रांगण में महिला दिवस एवं महाशिवरात्रि

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय धमतरी के प्रांगण में महिला दिवस एवं महाशिवरात्रि – बनाए महान नारी विषय पर अदभुत कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें  समाज एवं राजनीति से जुड़ी विभिन्न महिलाएं उपस्थित हुई। सभी ने अपने विचार व्यक्त किए एवं महिला दिवस की शुभकामनाएं दी।

ब्रह्माकुमारी सरस बहन जी ने कहा कि शिव और शक्ति का संगम आज हुआ है अभी अज्ञानता की रात चल रही है।

श्रीमति सुशीला नाहर जी व श्रीमति शीतल बहन जी  ने कहा कि हमें गर्व होना चाहिए कि हम महिलाएं महिलाएं सर्व सम्माननीय पूजनीय होती देवी देवताओं में सबसे पहला नाम देवी का ही आता है पीछे देवता का। उन्होंने गीत गाकर सभी का उमंग उत्साह बढ़ाया।

श्रीमति कांता राठी जी ने समस्त मातृशक्ति को नमन करते हुए कहा कि जब मुझे एक दिन ही ब्रह्माकुमारीज में आकर ही इतनी आत्मिक शांति का अनुभव हो रहा है तो जो बहने यहां रोज आती हूं कि उनके जीवन में कितनी शांति और आनंद होगा।

डॉक्टर भारतीय राव जी ने ब्रह्माकुमारी संस्था की सराहना करते हुए कहा कोरोना के बावजूद ब्रह्माकुमारी संस्थान ने अपनी परंपरा अनुसार महिला दिवस के कार्यक्रम का आयोजन किया और सभी महिलाओं को एकत्रित किया मैं ईश्वर को धन्यवाद देती हूं की ऐसी देवी बहन के संरक्षण में हम हैं। नारी ही परिवार, समाज और देश के लिए लक्ष्मी, सरस्वती, कल्याणी और दुर्गा है।

श्रीमती सरिता अग्रवाल ने संस्थान को दिल से धन्यवाद करते हुए कहा कि हर बड़ी यात्रा की शुरुआत छोटे कदमों से होती है।

श्रीमती गवरी गुप्ता उन्हें अपने दिल की भावनाएं व्यक्त करते हुए कहा कभी भी विषम परिस्थितियों में नारी को खुद को कमजोर नहीं समझना चाहिए क्योंकि औरत के कमजोर होने से परिवार, समाज और देश कमजोर होता है और औरत के शक्तिशाली होने से परिवार, समाज और देश शक्तिशाली होता है।

श्रीमती अनीता अग्रवाल जी ने उपस्थित सभी महिलाओं से ब्रम्हाकुमारी के द्वारा दिया जा रहा 7 दिन का कोर्स करने का आग्रह किया।

श्रीमती सुशीला तिवारी जी ने कहा कि महिलाएं आज सभी क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। और उनका योगदान अतुलनीय है।

श्रीमती प्रभा मिश्रा ने कहा कि स्वयं ईश्वर ने शक्ति को इनकार किया था वर्तमान में समाज में बहुत बदलाव हुए हैं नारी सृजनकर्ता है। ब्रह्माकुमारी संस्था में डिप्रेशन में डूब चुके लोग भी स्वस्थ हुए हैं।

श्रीमती अर्चना चौबे जी ने महाशिवरात्रि व महाशक्ति पर्व की बहुत-बहुत बधाई देते हुए कहा की शिव बाबा ने माताओं बहनों को ही ब्रह्माकुमारी संस्थान चलाने के निमित्त बनाया है जो अपने आप में बहुत बड़ी बात है ईश्वर ने नारी शक्ति स्वरूपा कहा है हम चाहे तो क्या नहीं कर सकते। खेल, राजनीति और शिक्षा सभी क्षेत्र में महिलाएं आगे हैं।

श्रीमती रंजना साहू जी ने कहा कि आज बहुत ही हर्ष, गौरव और सौभाग्य का विषय है कि हम सभी महिला दिवस मनाने के लिए आत्म अनुभूति तपोवन के प्रांगण में एकत्रित हुए हैं।आगे उन्होंने कहा कि एक पुरुष यदि सफल होता है तो उसके पीछे किसी महिला का हाथ होता है ठीक वैसे ही एक महिला जब सफल होती है तो उसके पीछे भी किसी पुरुष का हाथ जरूर होता है। ब्रह्मा कुमारीज एक बहुत पवित्र स्थान है। नारी दिल दिमाग और मन तीनों से एक साथ कार्य करती है।

राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी सरिता दीदी जी ने महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए उपस्थित सभागण से कहा कि निश्चित रूप से महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं लेकिन जितना ही वो आगे बढ़ रही हैं उतना ही भयभीत भी हो रही हैं। महिलाओं के साथ समाज में जिस प्रकार का व्यवहार होता है इसको नकारा नहीं जा सकता। कुछ महिलाएं तो आगे आई लेकिन कुछ अब भी शोषण का शिकार हैं।आज महिलाओं को चाहिए कि वे आध्यात्म के क्षेत्र में भी आगे बढ़े। अध्यात्म हमारे अंदर ऐसे सुंदर विचार पैदा करता है जिससे समाज में बढ़ रही अराजकता, अपराध, हिंसा सब समाप्त हो सकती है। परमात्मा को परमपिता कहा जाता है उसकी हम सब संतान हैं तो हम सब भी शक्तिशाली हैं। स्त्री और पुरुष संसार का श्रृंगार है। परमात्मा ने हर सृजन की कला, पालना की कला नारियों को दी है। परमात्मा हमें सर्वशक्तियाँ देने आया है जिसे हमें राजयोग मेडिटेशन के द्वारा ग्रहण करना है जिससे अपने आप ही हमारे अंदर जीवन के सारे मूल्य और गुण आ जायेंगे। भगवान की बच्ची देवता होते हैं मंगता नहीं।
हम दाता के बच्चे तो हमें सर्व को सम्मान देना है मांगना नहीं है। विश्व में महिलाओं की एकमात्र सबसे बड़ी संस्था है प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज ईश्वरीय विश्व विद्यालय।

मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे श्रीमती रंजना साहू जी,विधायक धमतरी,  श्रीमती अर्चना चौबे जी, पूर्व विधायक धमतरी,  श्रीमती अनीता मित्तल जी, उपाध्यक्ष इनरव्हील क्लब,  श्रीमती डॉ. भारती राव जी, पूर्व अध्यक्ष लेडीज क्लब,  श्रीमती अनीता अग्रवाल जी, अध्यक्ष लायंस क्लब,  श्रीमती कांता राठी, अध्यक्ष माहेश्वरी महिला मंडल,  श्रीमती संतोष मिन्नी, अध्यक्ष नवकार महिला मंडल,  श्रीमती सुशीला नाहर, जैन महिला मंडल,  श्रीमती प्रीति पिंजानी, उपाध्यक्ष सिंध महिला मंडल,  श्रीमती सूर्यप्रभा चेट्टियार, अध्यक्ष जिला महिला कांग्रेस, श्रीमती हेमलता शर्मा, प्रदेश कोषाध्यक्ष महिला मोर्चा,  श्रीमती प्रभा मिश्रा, अध्यक्ष ब्राह्मण समाज, श्रीमती सुशीला तिवारी, पार्षद एवं समाजसेवी, श्रीमती उषा गुप्ता, अध्यक्ष गहोई वैश्य महिला मंडल, श्रीमती सरिता अग्रवाल, अखिल भारतीय अग्रवाल महिला मंडल एवं ब्रह्माकुमारी सरिता दीदी जी।

कार्यक्रम का संचालन श्रीमती कामिनी कौशिक जी ने किया। मंचासीन कार्यक्रम के पश्चात सभी अतिथियों द्वारा परमात्मा शिव का ध्वज फहराया गया। 40 फीट का विशाल शिवलिंग एवं 12 ज्योतिर्लिंगम आध्यात्मिक झांकी कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रहे।